हनुमान बेनीवाल की हुँकार महारैली से सीकर की सभी सड़के जाम, उमड़ा भरी जनसैलाब

खिवंसर विधायक हनुमान बेनिवल ने इसी वर्ष बाड़मेर व बीकानेर जिला मुख्यालय पर किसानो व जवानों के विभिन्न मुद्दों को लेकर किसान हुँकार महारैली का आयोजन किया था। जिसमे बेनीवाल के एक आह्वान पर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से किसानो व जवानों ने 7 लाख से आधिक संख्या में हिस्सा लिया था। बेनीवाल की तीनों किसान हुँकार महारैलीयां राजस्थान की अब तक की सबसे बड़ी रैलीयां रही हैं। और अब विधायक बेनिवाल पुनः सीकर में  किसान हुँकार महारैली – 4 का आयोजन कर रहे हैं। बेनीवाल की चौथी हुँकार सीकर में आशानुरूप जनसमर्थन देखने को मिल रहा है। सीकर हुँकार महा रैली को लेकर बेनीवाल समर्थक कल रात से ही सीकर में जुटना शुरू हो गए थे। आज सुबह तक तो सीकर जिले की सभी सड़को पर तीन चार किलोमीटर लम्बे जाम लग गए। सीकर की हुँकार महा रैली में आज सुबह 11 बजे तक सभी पांडाल पूरी तरह भर चके थे, बेनीवाल समथर्क हनुमान बेनीवाल जिंदाबाद के गगनचुम्बी नारों से महारैली में पधारे किसानो व जवानों में जोश भर रहे है।

 

 

कर चुके हैं तीन बड़ी रैलियांमोदी तक पहुंची है खबर

सीकर जिले में खींवसर से विधायक बेनीवाल चार साल में प्रदेश की अपनी चौथी बड़ी रैली का आयोजन कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने बीते साल नागौर व बीकानेर और इसी साल के शुरुआत में बाड़मेर में बड़ी रैलियां कर राजस्थान की बीजेपी सरकार के माथे पर पसीना ला दिया था। राजे सरकार द्वारा हालांकि, 50-50 हजार रुपए का कर्ज माफ करने का काम शुरू कर दिया है लेकिन सम्पूर्ण कर्जमाफी के लिए किसानों का साथ और रोजगार के लिए युवाओं के दम पर हनुमान बेनीवाल करीब 7 लाख लोगों की भीड़ एकत्रित करने का दावा कर चुके हैं। इससे पहले की तीनों रैलियों में भी विधायक हनुमान बेनीवाल ने 6 से 7 लाख लोगों तक की भीड़ जुटाने का दावा किया था।

किसान हुँकार महा रैली का सीधा प्रसारण देखने के लिए यहां क्लिक करे – किसान हुँकार महा रैली लाइव प्रसारण 

नरेन्द्र मोदी से बड़ी रैली करके आये चर्चा में

बाड़मेर जिले में हुई रैली को तो राज्य सरकार की इंटेलिजेंस ऐजेंसियों ने ही उन दिनों रिफायनरी के कार्य शुरुआत कार्यक्रम के लिए आयोजित पीएम नरेंद्र मोदी की रैली से भी बड़ी बताया था। जिसके बाद एक ओर जहां सियासत में निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल का कद बढ़ गया, वहीं राज्य सरकार की भी नींद उड़ गई थी। बाड़मेर रैली के बाद से ही केंद्र सरकार के पास भी बेनीवाल की तमाम गतिविधियों की पूरी अपडेट पहुंचाई जा रही है। ऐसे में माना जा रहा है कि अगले एक सप्ताह बाद शुरू होने वाली अमित शाह की राजस्थान यात्रा के दौरान विधायक हनुमान बेनीवाल बीजेपी की राह में बड़ा रोड़ा बन सकते है। फिलहाल राजस्थान में हनुमान बेनीवाल मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले इकलोते नेता है।

 

किरोड़ी के जाने बाद बढ़ा बेनीवाल का कद 

एक पखवाड़े से बेनीवाल अपनी रैली को सफल बनाने के लिए सीकर, झुंझुनूं, हनुमानगढ़, चुरू, नागौर, श्रीगंगानगर और जोधपुर में जन सपंर्क अभियान में जुटे हुए हैं। शुक्रवार को उन्होंने ऊंट, घोड़ों, बैलों और वाहनों के साथ सीकर में यात्रा निकाल कर सरकार के लिए परेशानी खड़ी कर दी है। इस बात पर सभी की नजर टिकी हुई है कि राजस्थान की जाट सियासत में उपजे खालीपन को भरते हुए किसान नेता बनने की ओर अग्रसर हनुमान बेनीवाल की यह सभा कितनी बड़ी होगी और उसके बाद उनका भविष्य क्या होगा? लेकिन इतना तय है कि बीजेपी के वरिष्ठ विधायक और पूर्व मंत्री घनश्याम तिवाड़ी के द्वारा पार्टी बनाने व राजपा विधायक किरोड़ीलाल मीणा के द्वारा बीजेपी का दामन थामने के बाद सांसद बनने पर हनुमान बेनीवाल ही वह लीडर हैं, जो राजस्थान की बीजेपी और कांग्रेस के खिलाफ उसी रफ्तार से मोर्चा खोलकर बैठे हुए हैं। प्रदेश की सियासत में हनुमान बेनीवाल का कद किरोड़ी के भाजपा में जाने के बाद बढ़ गया है। किरोड़ीलाल मीणा के बिना हनुमान बेनीवाल की यह पहली रैली सीकर में होने जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *