हनुमान बेनीवाल ने की खरनाल मेले में तांगा दौड़ को वापस शुरू करने की मांग

खींवसर विधायक हनुमान बेनीवाल ने प्रेस नोट जारी करते हुए कहा की  सरकार को आगामी महीने में आम जन और 36 कौम की आस्था के प्रतिक विश्व प्रसिद्ध नागौर जिले के मुंदीयाड़ के गजानंद जी, खरनाल के वीर तेजा जी मेले तथा बालापीर के मैले में तांगा दौड़ को पुनः शुरू करना चाहिए क्योकि आमजन की धार्मिक आस्था इन दोड़ो से जुडी हुई हैं।

veer teja ji photo
Veer Teja Ji

 

हनुमान बेनीवाल ने की थी तांगा दौड़ पुनः शुरू करने की घोषणा 

नागौर सहित आसपास के ग्रामीण विधायक हनुमान बेनीवाल के अगले कदम का इंतजार कर रहे हैं। क्योंकि विधायक बेनीवाल ने गत वर्ष वीर तेजाजी मेले के दौरान खरनाल में आयोजित धर्म सभा में मंच से अगले वर्ष (इस वर्ष) तांगा दौड़ कराने की घोषणा की थी।

उन्होंने मंच से स्पष्ट शब्दों में कहा कि सरकार या कोर्ट चाहे दौड़ की अनुमति दे या नहीं, वे अगले वर्ष तांगा दौड़ कराएंगे, चाहे इसके लिए उन्हें जेल जाना पड़े। मुंदियाड़ से खरनाल व खरनाल से नागौर तक होने वाले तांगा दौड़ को लेकर इस बार भी कुछ स्पष्ट नहीं है।

 

 

तांगा दौड़ का मामला बेनीवाल ने सदन में भी उठाया 

गौरतलब है की बजट सत्र में खिवंसर विधायक ने तांगा दौड़ का मामला सदन में भी उठाया था जिस पर सरकार ने दौड़ करवाने को लेकर विधायक बेनीवाल को आशवस्त किया था। विधायक बेनिवल ने कहा की इन मैलों में तांगा दौड़ में किसी प्रकार की कुरर्ता घोड़ों के साथ नहीं की जाती हैं और प्रशिक्षित कोचवान ही गुड़ दौड़ में हिस्सा लेते हैं।

बेनीवाल ने कहा की जब तमिलनाडु की सरकार वहां के पारंपरिक खेल जल्लिकटु को अध्यादेश लेकर पुनः शुरू कर सकती हे तो राज्य सर्कार को भी इस दिशा में गंभीरता से सोचने की आवश्यकता हैं।

kharnal tanga dod

 

सरकार को जनता की धार्मिक आस्था का सम्मान करना चाहिए

विधायक बेनीवाल ने कहा की लाखो लोगो की आस्था इन मेलों से और इस तांगा दौड़ से जुडी हुई हैं इसलिए सरकार को जनता की धार्मिक आस्था का सम्मान करना चाहिए क्योंकि यह दौड़ वर्षो से चली आ रही हैं। बेनीवाल ने कहा की तांगा दौड़ बंद करने के बाद जनता में शासन के प्रति भयंकर आक्रोश हैं और सरकार ने यदि समय रहते दौड़ के आदेश जारी नहीं किया तो जनता के विरोध का सामना सरकार को हर जगह करना पड़ेगा। इस दौरान विधायक बेनीवाल ने कहा की सरकार को लोगों की भावनाओं का भी ध्यान रखना चाहिए।

 

 

इसलिए बंद हुई तांगा दौड़ 

मेलों के दौरान होने वाली तांगा दौड़ में सबसे बड़ा अड़ंगा दौड़ में घुसने वाले बाइकर्स हैं। हाथों में लाठियां लेकर तांगों के बीच में दौड़ने वाले बाइकर्स के कारण ही सारी परेशानी खड़ी होती है। दौड़ के दौरान अचानक शामिल होने वाली खुली जीपों एवं बाइकर्स को उन हालातों में पुलिस भी नहीं रोक पाती और वे दौड़ में शामिल होकर हुल्लड़ मचाते हैं। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने साफ कह रखा है कि मनोरंजन के लिए पशु क्रूरता हो तो उस पर रोक लगे। इस दौरान हाइवे भी जाम रहता है। इसे लेकर पुलिस अपनी कार्रवाई में लगी है। ऎसे में एक तरफ आस्था व परम्परा है तो दूसरी तरफ कानूनी पहलू भी है। फिलहाल दौड़ को लेकर असमंझस की स्थिति बनी हुई है।

2 thoughts on “हनुमान बेनीवाल ने की खरनाल मेले में तांगा दौड़ को वापस शुरू करने की मांग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *