आनंदपाल गिरोह को किस राजनेता का संरक्षण था, जनता जानना चाहती है: हनुमान बेनीवाल

खींवसर विधायक हनुमान बेनीवाल ने कुख्यात अपराधी आंनदपाल के एनकाउंटर प्रकरण पर प्रतिक्रिया देते हुए कही। राजस्थान पुलिस, एसओजी टीम और हरियाणा के सिरसा की पुलिस टीम और जवान सभी बधाई के पात्र हैं, जिन्होंने राजस्थान के हार्डकोर अपराधी को उसके अंजाम तक पहुंचाने में महत्पूर्ण भूमिका निभाई और जान पर खेलकर एनकाउंटर को अंजाम दिया।

hanuman beniwal photo
हनुमान बेनीवाल

 

बेनीवाल ने युनुस खान पर लगाये गंभीर आरोप 

उन्होंने गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया, पुलिस महानिदेशक मनोज भट्ट, एटीएस-एसओजी के आईजी दिनेश एमएन, चूरू के जिला पुलिस अधीक्षक राहुल बारहट को दूरभाष पर उपलब्धि की बधाई दी है। उन्होंने एक बार फिर सरकार पर आरोप को दोहराते हुए कहा कि कैबिनेट मंत्री युनूस खान चुनाव से पूर्व भरतपुर की सेंवर जेल में आनंदपाल से मिले। उन्होंने वहीं गैंगस्टर आंनदपाल की फरारी काटने में भी युनूस खान द्वारा मदद पहुंचाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यह काम बहुत पहले हो जाना था मगर उच्च राजनीतिक संरक्षण की वजह से कुख्यात अपराधी आनंदपाल पहले फरार हुआ फिर आंतक फैलाया, जिससे राज्य के 2 पुलिस के जवानों को शहादत भी देनी पड़ी। एनकाउंटर में कुख्यात अपराधी ने पुलिस टीम पर 100 से ज्यादा राउंड फायर किए, जो उसके राजनैतिक संरक्षण को दर्शाता है लेकिन पूरी टीम ने जिस बहादुरी के साथ एनकाउंटर को अंजाम दिया वो काबिल-ए-तारीफ  है।

 

बेनीवाल ने आॅपरेशन में घायल हुए जवानों के शीघ्र स्वास्थ्य की कामना 

उन्होंने आॅपरेशन में घायल हुए पुलिस के जवानों के शीघ्र स्वास्थ्य की कामना भी की। उन्होंने कहा कि जो अपराधी जिंदा पकड़े गए है, पुलिस उनसे वो सभी राज सार्वजनिक करवाएं, जिनकी वजह से आंनदपाल फरार हुआ। साथ ही आनंदपाल गिरोह को किस राजनेता का संरक्षण मिला हुआ था, यह सब प्रदेश की जनता अब जानना चाहती है। उन्होंने कहा कि आंनदपाल की फरारी के लिए जिम्मेदार और संरक्षण देकर भगाने वाले अधिकारियों और राजनेताओं पर भी सख्त कार्वाई की आवश्यकता है।

5 thoughts on “आनंदपाल गिरोह को किस राजनेता का संरक्षण था, जनता जानना चाहती है: हनुमान बेनीवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *