हनुमान बेनीवाल 27 को रहेंगे बाड़मेर के दौरे पर, करेंगे बाड़मेर हुँकार रैली की घोषणा

बाड़मेर में विशाल रैली से करेंगे प्रदेश के किसान व जवान को मजबूत , खींवसर विधायक हनुमान बेनीवाल 27 को रहेंगे बाड़मेर के दौरे पर

राजस्थान में हमेशा विपक्ष की भूमिका में खड़े रहने वाले एवं सरकार की नाक में दम करने वाले खींवसर विधायक हनुमान बेनीवाल ठीक एक साल बाद फिर राज्य सरकार की नींद उड़ाने की तैयारी कर रहे हैं। गत वर्ष नागौर जिला मुख्यालय पर बड़ी रैली कर लाखों का जनसैलाब जुटाने वाले विधायक बेनीवाल इस बार बाड़मेर में बड़ी रैली की योजना बना रहे हैं।

इसके लिए खींवसर विधायक बेनीवाल 27 नवम्बर को बाड़मेर दौरे पर रहेंगे, जहां वो विभिन्न जिलों के समर्थकों के साथ चर्चा कर बाड़मेर में प्रस्तावित आगामी किसान हुंकार महारैली की तारीख की घोषणा करेंगे।

ये रहेंगी प्रमुख मांगें

विधायक बेनीवाल ने बताया की कर्जमाफी, टोल मुक्त राजस्थान, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करवाने, सशक्त लोकायुक्त, कृषि क लिए मुफ्त बिजली, रिफायनरी का तत्काल कार्य शुरू करने, सीमावर्ती जिलो के लिए विशेष आर्थिक पैकेज जारी करने सहित दर्जनों मांगों को रैली में रखा जाएगा तथा मांग पत्र तैयार कर सरकार को भेजा जाएगा।

नागौर की रैली के बाद हुआ था ताकत का अहसास

गौरतलब है कि विधायक बेनीवाल ने गत वर्ष 7 दिसम्बर को नागौर जिला मुख्यालय पर रैली का आयोजन कर जनसैलाब जुटाया था, जिसमें लाखों लोग पहुंचे थे। रैली में उमड़े जनसैलाब के बाद सरकार को बेनीवाल की ताकत का अहसास हो गया था, इसलिए सरकार ने नागौर जिले के एक मंत्री का कद भी बढ़ाया था। रैली के दौरान विधायक बेनीवाल सहित अन्य सहयोगियों ने 72 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सरकार को दिया था, जिस पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने भी संज्ञान लिया था।

तीसरे मोर्चे की तैयारी में बेनीवाल

निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल पिछले काफी समय से राजस्थान में तीसरे मोर्चे की बात कह रहे हैं। गत वर्ष नागौर में रैली का आयोजन होने के बाद इसकी संभावना तेज हो गई। पिछले एक साल से बेनीवाल लगातार जगह-जगह तीसरे मोर्चे की बात कह रहे हैं। बेनीवाल का कहना है कि बाड़मेर के बाद बीकानेर व सीकर में भी इसी प्रकार की बड़ी रैलियां आयोजित की जाएगी। इसके बाद चुनाव से ठीक पहले वे जयपुर में विधानसभा घेरेंगे। बेनीवाल इन रैलियों के माध्यम से राज्य के लोगों के सीधे सम्पर्क में तो आ ही रहे हैं साथ ही सरकार से नाराज जनप्रतिनिधियों को भी अपनी ओर मिला रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *